Majedar hindi kahaniya-गीदड़ की कंजूसी

Aaj ki Majedar hindi kahaniya hai गीदड़ की कंजूसी iss kahani mei ek gidhad hai jo bhehad kanjus rehta hai…

गीदड़ की कंजूसी

घने जंगल के किनारे एक गीदड़ रहता था। वह गीदड़ बड़ा ही कंजूस था। वह अपनी कंजूसी हमेशा खाने में किया करता था। जितने शिकार के मांस से दूसरे जानवर 2 दिन चलाते थे।

गीदड़ उसे 7 दिन तक चलाता था।जैसे कि उसने एक खरगोश का शिकार किया हो तो। पहले दिन वो सिर्फ खरगोश का कान खाकर ही चलाता था। वैसे ही कंजूसी करते हुए दूसरे दिन दूसरे कान को ही खाता था।

जैसे कोई कंजूस पैसों में कंजूसी करता हो वैसे ही वह गीदड़ मास में कंजूसी करता था। गीदड़ का पेट कभी भी पूरा नहीं भरता था।इसी कारण वह कमजोर होने लगा।एक बार उसे एक मरा हुआ बारह सिंघा मिला।वह बारहसिंघा काफी हष्ट पुष्ट और तगड़े मांस वाला था। गीदड़ ने उसे उठाया और अपने घर ले गया। उसने इतना मास पाकर भी कंजूसी नहीं छोड़ी।

उसने बारहसिंघा को थोड़ा-थोड़ा खाया। उसके इसी कंजूसी के चलते बारहसिंघा का उतना मांस खराब हो गया। अब बारहसिंघा का मांस बिल्कुल खाने लायक नहीं था।उसी वन में एक दिन एक शिकारी आ पहुंचा। शिकारी ने एक सूअर को देखकर बाण चलाया। शिकारी का तिर इतना सटीक था कि वह जाकर सूअर को लग गया।

तीर की चोट से सूअर को बहुत दर्द हुआ वह मौत के मुंह में आ गया। गुस्से में सूअर भी उसकी ओर छपता और पंजे से उसने शिकारी को घायल कर दिया। दोनों घायल अवस्था में थे कि उनकी मौत हो गई। तभी वहां मक्खीचूस गीदड़ आ गया।

उन दोनों को देख गीदड़ बहुत खुश हुआ।गीदड़ को उतना मास मिलने पर भी उसकी कंजूसी खत्म नहीं हुई।उसकी नजर अचानक से पास में पड़े बान पर गई। उस बान में थोड़ा सा मांस का टुकड़ा लगा था। उसने सोचा आज का इंतजाम इसी बान में लगे मांस के टुकड़े से किया जाए।जैसे ही उसने वह बान को मुंह के अंदर डाला वह बान से तीर निकल गया और उसके छाती पर जा लगा। गीदड़ वही मर गया

HINDIFORU

Related kahani

majedar kahaniya in hindi-चार मूर्ख Majedar kahani

Hindi majedar kahaniya-योग्य राजा का चुनाव Majedar kahani

Doctor ki kahani-डॉक्टर से हिसाब बराबर Majedar kahani

Majedar story-चालाक महिला||majedar kahaniya in hindi

Related searches

hindi majedar kahaniya

kahaniya majedar

majedar kahaniya in hindi

majedar kahaniya hindi

kahaniya majedar kahaniya

majedar kahaniya

 

Leave a Comment