gyan ki kahani-ज्ञानी मित्र||new moral stories in hindi

gyan ki kahani-ज्ञानी मित्र||new moral stories in hindi

Gyanio mei gyan ki kami nhh hoti hai, parantu gyan ke sath sath hi jindagi bitane ke liye duniyadari ki bhi samaj hona jaruri hai. Aaj ki kahani aise hi gyani logo ke upar hai jo humesha gyan deta rehta hai.Toh kahani ko padiye aur humare sath jude rajiyeh Hindiforu mei.

ज्ञानी मित्र

यह कहानी है एक शहर की जहां चार मित्र रहते थे। वे सभी मित्र इकट्ठे ही रहते थे। उनमें से तीन मित्रों के पास बहुत ज्ञान था। उन तीनों के साथ ही जो चौथा मित्र था उसमें ज्ञान की कमी थी परंतु उसे दुनियादारी की समझ थी।

एक दिन चारों ने मिलकर निर्णय किया कि क्यों ना हम सब मिलकर देश-विदेश कि यात्रा कर आए।और थोड़े पैसे भी कमा आए। फैसला होते ही चारों एक साथ निकल गए। चलते-चलते जल्दी ही वे जंगल पहुंच गए। अब जंगल पार करते हुए। उन चारों की नजर हड्डियों के ढेर पर पडी।

उन ज्ञानी मैं से एक ज्ञानी बोला। यही सही मौका है यहां ज्ञान परखने का।ऐसा बोलकर उसने कहा मैं यह जानवर की हड्डियों को जोड़ सकता हूं। यह सुनकर दूसरा ज्ञानी मित्र भी कहां चुप रहता। उसने कहा मैं अपने ज्ञान से इस जानवर में खून और मांस ला दूंगा। दोनों की देखा देखी तीसरे ज्ञानी मित्र ने कहा मैं इस जानवर में जान वापस ला दूंगा।

अब तक प्रथम ज्ञानी ने जानवर की हड्डियों को जोड़ लिया था। तथा इसके साथ ही दूसरे ज्ञानी ने भी उस जानवर में मांस और खून ला दिया था। यह सब होता देख चौथा मित्र चिल्ला उठा कि इसमें जान मत फूंकना नहीं तो यह हमें खा जाएगा। यह एक शेर है

majedar kahani-कैसे हुए कौए काले?baccho ki majedar kahaniya⇐click here for hindi kahani

चौथे मित्र की बात सुनकर सभी तीनों मित्रों उस पर हंसने लगे। उसका मजाक उड़ाने लगे कि तू ज्ञानी नहीं है तू मूर्ख है। चौथे मित्र ने सभी को आगाह किया और पेड़ पर चढ़ गया। अब जैसे ही तीसरे मित्र ने उस शेर के शरीर में जान वापस लाइ। वह शेर बड़ी ही ताकत से उन तीनों पर टूट पड़ा और देखते ही देखते उसने तीनों को मौत के घाट उतार दिया। यह देख चौथे मित्रों को बहुत दुख हुआ।यदि उसके तीनों मित्र उसकी बात सुनते तो आज वे जीवित होते।

इसी कारण पाठको हमेशा याद रखना कोई इंसान आपको अगर किसी चीज पर सचेत कर रहा हो तो उसकी बात जरूर सुने।

Rochak aur maje se bhari kahaniya

Hathi wali kahani-सबक||hathi ki kahani

majedar kahaniya-7 मजेदार कहानियां

Majedar hindi kahaniya-गीदड़ की कंजूसी

Hindi majedar kahaniya-योग्य राजा का चुनाव Majedar kahani

kisan ki kahani-किसान की चतुराई||Garib kisan ki kahani

Leave a Comment