Explain function of embedded software development tools-एंबेडेड सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट टूल के फंक्शन क्या क्या है?

एंबेडेड सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट टूल के फंक्शन क्या क्या है?

Table of Contents

Embedded software एक सॉफ्टवेयर है जो control करता है एंबेडेड सिस्टम को।
सभी एंबेडेड सिस्टम को जरूरत होती है एक सॉफ्टवेयर की उसके functioning के लिए।
एंबेडेड सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम लोड किया जाता है microcontroller में जो कि बाद में ख्याल रखता है सभी operations का जो running state में है।
Tools की बात किया जाए तो एडिटर(editor),कंपाइलर(compiler), असेंबलर(assembler), डी बगैर(debugger).

1.Editor/एडिटर

  • जो सबसे प्रथम tool हमें जरूरत पड़ती है एंबेडेड सिस्टम सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट tool में वह text एडिटर tool है।

  • यह वही चीज है जहां हम code write करते है एंबेडेड सिस्टम का।

  • यह कोड कुछ प्रोग्रामिंग language में लिखे जाते हैं। ज्यादातर use करने वाले language C या C++जो code एडिटर में लिखे जाते हैं ओ साथी refer किए जाते हैं source कोड में।

2.Compiler/कंपाइलर

  • जो दूसरी सबसे जरूरी चीज है एंबेडेड सिस्टम सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट tool में वह है कंपाइलर।

  • कंपाइलर का यूज तभी किया जाता है जब हम अपने एडिटिंग पार्ट को कंप्लीट कर लेते हैं और source कोड बना लेते हैं।

  • कंपाइलर का एक ही काम होता है कि वह convertकरें source कोड को object कोड में।

  • कंप्यूटर काफी आसानी से समझ सकता है object कोड को क्योंकि यह low level लैंग्वेज होती है।

  • इसी कारण से compiler यूज़ किया जाता है ताकि high level language को convert कर सके low level programming langugae में।

3. Assembler/असेंबलर

  • तीसरा और सबसे आवश्यक एंबेडेड सिस्टम सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट tool है असेंबलर

    असेंबलर का काम होता है कि वह Assembly language में जो कोड लिखी है उसे convert करे मशीन लैंग्वेज में।

    सभी mnemonics तथा डाटा convert किए जाते op code तथा bit में असेंबलर के द्वारा।

  • हम सभी को पता है कि computer सिर्फ binary समझता है।इसी कारण code को convert किया जाता है मशीन language में।

  • यह थे सबसे जरूरी और आवश्यक कार्य assembler के।

4.Debbuger/डी बगर

  • जैसे कि नाम ही हमें बताते हैं कि debugger एक debbuging tool है जो कि debug करता है code को।

  • debugger टेस्ट करता है कि हमारा कोड जो लिखा है वह error फ्री है कि नहीं।

    इसी कारण debbuger को यूज किया जाता है टेस्टिंगके लिए।

  • Debbuger यह पूरे code को चेक करता है errors तथा bugs निकालने के लिए।

  • यह check करता है हमारे codes के अलग-अलग errors उदाहरण runtime errors या syntax errors.

  • Line का नंबर तथा location दिखाया जाता है debugger द्वारा।

 

5.Linkers/लिंकार्स

  • दूसरा सबसे जरूरी एंबेडेड सिस्टम सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट tool है linker.

    Linkers कंप्यूटर प्रोग्राम है जो combine करता है एक या एक से अधिक object file code को तथा libary फाइल्स को एक साथ ताकि वह execute हो सके।

  • यह काफी common practise है कि बड़े-बड़े programs को छोटे-छोटे parts और modules में तोड़कर काम को आसान किया जाए।

  • यह सभी छोटे-छोटे पार्ट्स को combine करके एक सिंगल फाइल execution के लिए तैयार करना जरूरी होता है इसीलिए वहां लिंकर्स की जरूरत पड़ती है।

 

6.Libaries/लाइब्रेरी

  • लाइब्रेरी यह pre written प्रोग्राम होता है जोकि यूज़ करने के लिए ready होता है और एक specific फंक्शनैलिटी देता है।

  • एंबेडेड सिस्टम सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट टूल्स के लिए लाइब्रेरी काफी important और convenient tool है।

  • लाइब्रेरी में files C या C++ मैं लिखी होती है तथा यह यूज किए जाते हैं विभिन्न प्रोग्राम तथा यूजर के द्वारा।

Leave a Comment