30-Amritwani जो जीवन का सार सिखाएं||amritwani 2020

     इस amritwani संग्रह में आप विशेष व्यक्तित्व वाले महापुरुषों के amritwani का आनंद ले सकते हैं.इस संग्रह में कुल 30 amritwani है जिसमें विवेकानंद जी, प्रेमचंद, तथा चाणक्य का भी समावेश है.इस amritwani को जरूर पढ़ें और कार्य में लाएं ताकि इन अमृतवाणी की भली-भांति आप अपने जीवन में कार्यशील रहे.

       Amritwani   

1.क्या वे आजादी पाने के योग्य है,जो दूसरे को आजादी देने को तैयार नहीं. विवेकानंद

2.मैं हर बार हारा हूं, फिर भी मैं विजय के लिए जन्मा हूं. एमरसन

3.जो व्यक्ति स्पष्ट नहीं होता वह जीवन भर भटकता रहता है.अज्ञात

4.हम जिए और सीखे,लेकिन हमारे सीखने में ही जीने का वक्त निकल जाता है. ऑर्सन वैल्स

5.चींटी से अच्छा उपदेश कोई नहीं देता और वह मौन रहती हैं. फ्रैंकलीन

6.जिस किसी से भी जितना भी ज्ञान मिले,उसे प्राप्त कर लेना चाहिए और बदले में कृतज्ञता प्रकट करनी चाहिए. चाणक्य

7.आत्म सम्मान पहला रूप है जिसमें महानता प्रकट होती है. इमर्शन

8.गुण तो आदमी उसमें देखता है, जिसके साथ जीवन भर निर्वाह करना हो. प्रेमचंद

9.गंभीर परिस्थितियां ही आदमी का विद्यालय है.महात्मा गांधी

10.इच्छाएं कभी तृप्त नहीं होती अतः इन्हें नियंत्रित रखो. स्वामी विवेकानंदपरिवर्तन को छोड़कर शेष सभी वस्तुएं परिवर्तनशील है. जैंगविल

11.मनुष्य अपनेभाग्य का निर्माता स्वयं है.व्यास

12.हमारी पीढ़ी की सबसे बड़ी खोज यह है कि इंसान अपना नजरिया बदल कर अर्थात श्रेष्ठ विचारों से अपनी जिंदगी को बेहतर बना सकता है. जॉन एलेन

13.सफल लोग महान काम ही नहीं करते बल्कि वह हर छोटे-छोटे काम महान तरीके से करते हैं.पुस्तक से प्राप्त

14.अधिकतर लोगदृढ़ संकल्प,दिशा बोध का अभाव, समर्पण और अनुशासन की कमी के कारण नाकामयाब होते हैं.शिव खेड़ा

15.दान करके गुप्त रखना, घर आए शत्रु का भी सत्कार करना, परोपकार करके भी ना कहना और दूसरे के उपकार प्रकट करते रहना ऐसे सद्गुण है,जो किसी भी पुरुष को महापुरुष बना देते हैं. अज्ञात

16.यदि कोई तुम्हारे लिए कांटे बोए तो तुम उसके लिए फूल बोओ. महात्मा गांधी

17.मित्र 50 हो तो भी कम है पर शत्रु अकेला ही काफी है. एलिलो

18.पुस्तके जागृत देवता है,उनकी सेवा करके तत्काल वरदान प्राप्त किया जा सकता है. अज्ञात

19.विवेक ही मनुष्य का वास्तविक हितैषी और मित्र हैं. स्वामी दयानंद सरस्वती

20.भाग्य कुछ भी नहीं करता वह तो केवल एक कल्पना मात्र हैं. योग वशिष्ट

21.धन और आयु बिजली की चमक की तरह क्षणिक हैं.शंकराचार्य

22.जिसके पास आशा है उसके पास सब कुछ है.इमर्शन

23.डरपोक प्राणियों में सत्य भी गूंगा हो जाता है.प्रेमचंद

24.बेवकूफी से अपनी तारीफ सुनने के बजाय, अकल मंदो से फटकार सुनना ज्यादा फायदेमंद है.अज्ञात

25.प्रयत्न से आदमी भला क्या नहीं कर सकता.अष्टावक्र

26.जिस देश में न्याय पैसों पर बिकता है वहां अपराध सबसे ज्यादा होता है. कालोई

27.अच्छा समय सभी पुराने घाव भर देते हैं. कहावत

28.जितना हम अध्ययन करते हैं उतना ही हमको अपने अज्ञान का अभ्यास होता है. विवेकानंद

29.निराशा से जीवन के बहुमूल्य तत्व नष्ट हो जाते हैं इसमें विजय के बहुत से अवसर खो जाते हैं.स्वेट मार्डन

30.असफलता उसी के हाथ लगती है जो प्रयास नहीं करता. हे बटली

आशा करते हैं कि इस अमृतवाणी संग्रह से आप अपने जीवन में कुछ अच्छा करें.यदि आपको इस अमृतवाणी का लाभ हुआ हो,तथा पढ़कर आनंद मिला हो तो नीचे कमेंट में हमें जरूर बताएं.

Leave a Comment