श्री दुर्गा जी के मंत्र | Maa durga mantra विविध उपद्रवों से बचने के लिए मां दुर्गा की आराधना इस मंत्र का जाप करते हुए करना चाहिए: रक्षांसि यत्रोग्रविषाश्च नागा यत्रारयो दस्युबलानि यत्र |दावानलो यत्र तथाब्धिमध्ये तत्र स्थिता त्वं परिपासि विश्वम् || विश्वव्यापी विपत्तियों के नाश के लिए मां दुर्गा की वंदना इस मंत्र के द्वारा करना चाहिए: देवि प्रपन्नार्तिहरे प्रसीद प्रसीद मातर्जगतोखिलस्य | प्रसीद विश्वेश्वरि पाहि विश्वं त्वमीश्वरी देवि चराचरस्य || महामारी नाश के लिए मां दुर्गा की आराधना इस मंत्र के द्वारा करना चाहिए: जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी | दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोस्तु ते || स्वर्ग और मोक्ष की प्राप्ति के लिए मां दुर्गा की स्तुति इस मंत्र के द्वारा करना चाहिए: सर्वभूता यदा देवी स्वर्गमुक्तिप्रदायिनी | त्वं स्तुता स्तुतये का वा भवन्तु परमोक्तयः || भक्ति प्राप्ति के लिए मां दुर्गा की वंदना इस मंत्र के द्वारा करना चाहिए: नतेभ्यः सर्वदा भक्त्या चण्डिके दुरितापहे | रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि || प्रसन्नता प्राप्ति के लिए मां दुर्गा की आराधना इस मंत्र के द्वारा करना चाहिए: प्रणतानां प्रसीद त्वं देवि विश्वातिहारिणि| त्रैलोक्यवासिनामीड्ये लोकानां वरदा भव || जीवन में आरोग्य और सौभाग्य की प्राप्ति के लिए मां दुर्गा की आराधना इस मंत्र से करना चाहिए: देहि सौभाग्यमारोग्यं देहि मे परमं सुखम् | रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि || अपने पापों को मिटाने के लिये इस मन्त्र के द्वारा मां दुर्गा की अराधना करना चाहिए: हिनस्ति दैत्यतेजांसि स्वनेनापूर्य या जगत् सा घण्टा पातु नो देवि पापेभ्योनः सुतानिव || इस मंत्र के द्वारा विश्व के अशुभ तथा भय का विनाश करने के लिए मां दुर्गा की स्तुति करना चाहिए: यस्याः प्रभावमतुलं भगवाननन्तो ब्रह्मा हरश्च न हि वक्तमलं बलं च| सा चण्डिकाखिलजगत्परिपालनाय नाशाय चाशुभभयस्य मतिं करोतु || सामूहिक कल्याण के लिए मां दुर्गा की वंदना इस मंत्र के द्वारा करना चाहिए: देव्या यया ततमिदं जग्दात्मशक्त्या निश्शेषदेवगणशक्तिसमूहमूर्त्या| तामम्बिकामखिलदेव महर्षिपूज्यां भक्त्या नताः स्म विदधातु शुभानि सा नः॥

durga devi mantra – मां दुर्गा को सबसे प्रिय 10 मंत्र

श्री दुर्गा जी के मंत्र | Maa durga mantra Durga devi mantra aaj hum apke liye laye hai… Padhe aur mata ka nam kare… विविध उपद्रवों से बचने के लिए मां दुर्गा की आराधना इस मंत्र का जाप करते हुए करना चाहिए: रक्षांसि यत्रोग्रविषाश्च नागा यत्रारयो दस्युबलानि यत्र |दावानलो यत्र तथाब्धिमध्ये तत्र स्थिता त्वं परिपासि विश्वम् || विश्वव्यापी विपत्तियों के नाश के लिए मां दुर्गा की वंदना इस मंत्र के …

Read moredurga devi mantra – मां दुर्गा को सबसे प्रिय 10 मंत्र

कबीर जी के दोहे- Kabir das ji ke150+दोहे | kabir doha

कबीर जी के दोहे- Kabir das ji ke150+दोहे | kabir doha

कबीर दास के 150+दोहे With Meaning Namaskar srotao aaj hum apke liye bhakti bhav se kabir das ji ke 150+ dohe laye hai jise padhke apka maan bhi shant hojayaga….कबीर जी के दोहे- कबीर दास के 150+दोहे  CONTINUE READING कबीर दास के प्रसिद्द दोहे  Kabir dohe – कबीर दोहे कबीर दुनिया से दोस्ती, होेये भक्ति मह भंग एंका ऐकी राम सो, कै साधुन के संग। अर्थ : कबीर का कहना …

Read moreकबीर जी के दोहे- Kabir das ji ke150+दोहे | kabir doha

Sant kabir dohe - कबीर जी के 43 दोहे संत कबीर के दोहे

Sant kabir dohe – कबीर जी के 43 दोहे | संत कबीर के दोहे

Sant kabir dohe – कबीर जी के 43 दोहे | संत कबीर के दोह Aiye aaj hum dekh lete hai Sant kabir ke dohe…. Aajki doho ki succhi mei kul 43 dohe hai jo swayam kabir ji dwara likhi gayi hai. Sabhi doho ka humne saral bhasa mei uttar diya hai poora padhe Sant kabir dohe – कबीर जी के 43 दोहे | संत कबीर के दोहे Sant kabir dohe …

Read moreSant kabir dohe – कबीर जी के 43 दोहे | संत कबीर के दोहे

Dohe kabir ji ke - संत कबीर दास जी के 22 प्रसिद्ध दोहे अर्थ सहित.

Dohe kabir ji ke – संत कबीर दास जी के 22 प्रसिद्ध दोहे अर्थ सहित…

Dohe kabir ji ke – संत कबीर दास जी के 22 प्रसिद्ध दोहे अर्थ सहित… Sant kabir ji dohe in hindi with meaning only in HINDIFORU.IN  DOHE KABIR JI KE ⇒⇒ DOHE KABIR JI KE कबीर के दोहे कागत लिखै सो कागदी, को व्यहाारि जीव आतम द्रिष्टि कहां लिखै, जित देखो तित पीव। अर्थ : कागज में लिखा शास्त्रों की बात महज दस्तावेज है। वह जीव का व्यवहारिक अनुभव नही …

Read moreDohe kabir ji ke – संत कबीर दास जी के 22 प्रसिद्ध दोहे अर्थ सहित…

Varnamala in hindi - संपूर्ण हिंदी वर्णमाला जानकारी

Varnamala in hindi – संपूर्ण हिंदी वर्णमाला जानकारी

Hindi Varnamla – संपूर्ण हिंदी वर्णमाला जानकारी In these article you will get to know about hindi varnamala hindi varnamala | swar aur vyanjan  वर्णमाला का परिचय व्याकरण की परिभाषा : किसी भी भाषा को उचित रूप से जानने और सीखने के लिए उसके व्याकरण का ज्ञान होजरूरी है। व्याकरण उस विद्या या विषय को कहते हैं, जिससे भाषा के शुद्ध रूप, प्रयोग और उच्चारण के नियमों का ज्ञान होत …

Read moreVarnamala in hindi – संपूर्ण हिंदी वर्णमाला जानकारी

श्री गणेश मंत्र - Shri ganesh mantra Vakratunda Mahakaya Surya Koti Samaprabha

श्री गणेश मंत्र – Shri ganesh mantra Vakratunda Mahakaya Surya Koti Samaprabha

श्री गणेश मंत्र – Shri ganesh mantra Vakratunda Mahakaya Surya Koti Samaprabha श्री गणेश मंत्र वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटि समप्रभा निर्विघ्नं कुरुमेदेवा सर्वकार्येषु सर्वदा || १ || एयूएम तदुपुरुषाय विद्महे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्ति प्रोद्योदयात् || २ || जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा | माता जाकी पार्वती, पीता महादेवा || 3 || एक दन्त दयावंत, चार भुजाधरी माथे पार तिलक सोहे, मुसे की सेवई || 4|| पान कढे। …

Read moreश्री गणेश मंत्र – Shri ganesh mantra Vakratunda Mahakaya Surya Koti Samaprabha

Ganesh Vandana - गणेश वंदना Ganesh Aarti Ganesh Bhajans

Ganesh Vandana – गणेश वंदना | Ganesh Aarti | Ganesh Bhajans

Ganesh Vandana – गणेश वंदना | Ganesh Aarti | Ganesh Bhajans Ganpati baapa mourya mangalmurti mourya. Shri Ganesh ji ki Ganesh vandana आरती गजबदाना विनायक की | सुर-मुनि-पूजिता गणनायक की || आरती गजबदाना विनायक की || एकदंत शशिभला गजानन। विघ्नविनाशक शुभगुण कानन | शिवसुता वंद्यमना-चतुरानन, दुखाविनाशक सुखदायका || आरती गजबदाना विनायक की || ऋषि-सिद्धि-स्वामी समर्थ अती। विमला बुद्धी दाता सुविमला-मती | आगा-वाना-दहना अमला अबिगता गती। विद्या-विनय-विभा-दयाकी || आरती गजबदाना विनायक …

Read moreGanesh Vandana – गणेश वंदना | Ganesh Aarti | Ganesh Bhajans

Jadui pari ki kahani - jadui pariyon ki kahaniyan

Jadui pari ki kahani – jadui pariyon ki kahaniyan

Pari wali kahani || Pariyo ki kahaniya Jadui pari ki kahani – मोची और नन्ही परियां बहुत समय पहले शहर में एक गरीब मोची रहा करता था। उसके घर में केवल उसकी एक पत्नी उसके साथ रहती थी। मोची जूता बनाने में बहुत माहिर था। वह अपने इसी काम से अपने परिवार का गुजारा चलाता था। वह अपनी पत्नी से काफी प्रेम करता था।धीरे-धीरे अन्य मोचियों के मुकाबले उसकी कमाई …

Read moreJadui pari ki kahani – jadui pariyon ki kahaniyan